सिख विरोधी दंगों के 37 साल बाद कानपुर से 4 आरोपी गिरफ्तार, कोर्ट से भेजे गए जेल

0
152
सिख विरोधी दंगों के 37 साल बाद कानपुर से 4 आरोपी गिरफ्तार, कोर्ट से भेजे गए जेल
सिख विरोधी दंगों के 37 साल बाद कानपुर से 4 आरोपी गिरफ्तार, कोर्ट से भेजे गए जेल

कानपुर में 1984 में भड़के सिख दंगे में किदवई नगर थाने में दर्ज हत्या और डकैती के मामले में एसआईटी ने चार आरोपितों को आज घाटमपुर से गिरफ्तार कर लिया है। इन चारों को न्यायालय में पेश कर जेल भेजा गया है। गिरफ्तार करने वाली टीम को 50 हजार के इनाम की घोषणा की गई है।

1984 को दंगाइयों ने एक इमारत में आग लगा दी थी

निराला नगर में एक नवंबर 1984 को दंगाइयों ने एक इमारत में आग लगा दी थी जिसमे एक दर्जन से अधिक सिख परिवार रहते थे। घटना हो जाने के बाद पड़ोसी वीरेंद्र सिंह ने किदवई नगर थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई थी। डीआईजी एसआईटी बालेंदु भूषण सिंह ने बताया की घटना में चार सिखों की हत्या हुई थी। सरदार रक्षपाल सिंह और भूपेंद्र सिंह को तीन मंजिला इमारत की छत से नीचे फेक दिया गया था। वहीं, गुरुदयाल सिंह भाटिया और उनके बेटे सतवीर सिंह भाटिया को गोली मारी गई थी। भीड़ ने घर में घुस कर डकैती डाली और आग के हवाले कर दिया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here