मनीष सिसोदिया का दावा गुजरात के BJP डेलिगेशन को केजरीवाल मॉडल में नहीं मिली कोई खामी

0
169

दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने कहा कि गुजरात बीजेपी से कुछ नेता दिल्ली में स्कूल और अस्पतालों की कमी निकालने के लिए बुलाए गए थे। उनकी कोशिश यह थी कि केजरीवाल मॉडल ऑफ गवर्नेंस में कमी निकालें, जिससे आज गुजरात में वो घबराए हुए हैं। मुझे बहुत खुशी है कि गुजरात बीजेपी का प्रतिनिधिमंडल दिल्ली आया। इस तरह सभी राज्यों के प्रतिनिधिमंडल एक दूसरे राज्य में जाने चाहिए और पार्टियों के प्रतिनिधिमंडल भी जाने चाहिए। कहीं कमी होगी तो वह भी बतानी चाहिए। बीजेपी प्रतिनिधिमंडल के लोग जिस मोहल्ला क्लीनिक में गए। वहां पर जो भी मिलता था तो कहता थेा कि बहुत बढ़िया है। डॉक्टर कहते थे कि हमसे पूछो हम बताएंगे, लेकिन न तो उन्होंने डॉक्टर से बात की और न मरीजों से और वहीं से भाग निकले। इसके बाद वे स्कूल में भी गए तो उन बेचारों को कुछ नहीं मिला। आखिर में थक हार कर उत्तर पूर्वी दिल्ली के एक मोहल्ला क्लीनिक में जाकर फोटो खिंचवा कर आए, जिस को एनजीटी के आदेश के बाद बंद कर दिया गया था। इसके बाद एक स्कूल में बीजेपी के सांसद उनको लेकर गए, जबकि उस स्कूल में बहुत शानदार बिल्डिंग बनी है। शानदार क्लासरूम बने हैं और उसका एक स्टोर है, जहां पर डेस्क रखे हुए हैं। बस वहां फोटो खिंचवा ली. इस पर सिसोदिया बोले कि स्टोर में तो स्टोर ही मिलेगा। डिप्टी सीएम ने बताया कि बीजेपी प्रतिनिधिमंडल को बुधवार शाम 4:00 बजे को प्रेस कॉन्फ्रेंस करनी थी, लेकिन कुछ मिला ही नहीं तो प्रेस कॉन्फ्रेंस भी कैंसिल करनी पड़ी। मुझे उम्मीद है कि बीजेपी गुजरात के प्रतिनिधिमंडल को समझ में आया होगा कि केजरीवाल मॉडल में इतने काम हुए हैं कि इसकी कमियां ढूंढना मुश्किल है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here