प्रोफेसर शांतिश्री बनीं जेएनयू की नई वाइस चांसलर, होंगी यूनिवर्सिटी की पहली महिला कुलपति

0
89
प्रोफेसर शांतिश्री बनीं जेएनयू की नई वाइस चांसलर, होंगी यूनिवर्सिटी की पहली महिला कुलपति
प्रोफेसर शांतिश्री बनीं जेएनयू की नई वाइस चांसलर, होंगी यूनिवर्सिटी की पहली महिला कुलपति

प्रोफेसर शांतिश्री बनीं जेएनयू की नई वाइस चांसलर, होंगी यूनिवर्सिटी की पहली महिला कुलपति

देश के प्रतिष्ठित जवाहरलाल नेहरू विश्ववि्द्यालय का नया कुलपति प्रोफेसर शांतिश्री धुलिपुड़ी पंडित को नियुक्त किया गया है। धुलिपुड़ी पंडित जेएनयू की पहली महिला कुलपति होंगी। इनका कार्यकाल पांच साल का होगा। वह इससे पहले वह सावित्री बाई फुले पुणे यूनिवर्सिटी में प्रोफेसर थीं। जेएनयू की 13वीं कुलपति बनने जा रही धुलिपुड़ी प्रोफेसर एम. जगदीश कुमार की जगह लेंगी जिन्हें यूजीसी का अध्यक्ष नियुक्त किया गया है।

प्रेसीडेंसी कॉलेज, मद्रास और कैलिफोर्निया स्टेट यूनिवर्सिटी से भी की पढ़ाई

प्रोफेसर पंडित ने जेएनयू से अंतरराष्ट्रीय संबंधों में एमफिल और भारतीय संसद एवं विदेश नीति पर पीएचडी की उपाधि प्राप्त की है। उन्होंने अमेरिका की नामचीन कैलिफोर्निया स्टेट यूनिवर्सिटी से सोशल वर्क में डिप्लोमा भी किया है। इसके अलावा इतिहास और सामाजिक मनोविज्ञान में बीए और एमए राजनीति विज्ञान प्रेसीडेंसी कॉलेज, मद्रास से किया है।

शांतिश्री जेएनयू की पूर्व छात्रा रही हैं

पिछले साल जेएनयू के कुलपति के तौर पर अपने पांच साल का कार्यकाल पूरा होने के बाद से एम जगदीश कुमार कार्यवाहक कुलपति के तौर पर जिम्मेदारियों का निर्वहन कर रहे थे। शांतिश्री जेएनयू की पूर्व छात्रा रही हैं। उन्होंने यूनिवर्सिटी के स्कूल ऑफ इंटरनेशनल स्टडीज से 1986 में एमफिल और 1990 में पीएचडी की डिग्री हासिल की। इससे पहले उन्होंने मद्रास स्थित प्रेजिडेंसी कॉलेज से राजनीति विज्ञान में पोस्ट ग्रेजुएशन की थी। सावित्री बाई फुले पुणे यूनिवर्सिटी से पहले वह गोवा यूनिवर्सिटी में भी पढ़ा चुकी हैं। 59 साल की शांतिश्री का जन्म रूस के सेंट पीटर्सबर्ग में हुआ था। तब उनकी मां वहां के लेनिनग्रेड ओरिएंटल फैकल्टी डिपार्टमेंट में तमिल व तेलुगू विषयों की प्रोफेसर थीं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here