लोकसभा चुनाव : गठबंधन के बाद बदलने तय है टिकटों के समीकरण

0
879
लोकसभा चुनाव : गठबंधन के बाद बदलने तय है टिकटों के समीकरण
लोकसभा चुनाव : गठबंधन के बाद बदलने तय है टिकटों के समीकरण

लोकसभा चुनाव : गठबंधन के बाद बदलने तय है टिकटों के समीकरण
* भाजपा और कांग्रेस उतार सकती है पुराने चेहरे
* आप तलाश रही है मजबूत चेहरा
– अश्वनी भारद्वाज –

नई दिल्ली ,राजधानी दिल्ली में जैसे की सम्भावना थी आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के बीच सीटों का बंटवारा हो गया है | और हुआ भी वही है जिसका जिक्र हम लगातार छह माह से करते आ रहे हैं तीन और चार का | अब यह भी तय हो गया है तीन कौन और चार कौन लड़ेगा | गठ्बन्धन की घोषणा से टिकिट के दावेदारों को थोड़ी परेशानी हो सकती है लेकिन दिल्ली के आवाम की बात करें तो उसकी इच्छा यही थी कि दोनों पार्टियाँ मिलकर चुनाव लड़े और एक मजबूत विकल्प के रूप में चुनौती पेश करे | जहां तक दावेदारों का सवाल है गठ्बन्धन के बाद थोड़े समीकरण भी बदले हैं | आज हम केवल पूर्वी दिल्ली और उत्तर पूर्वी दिल्ली की बात करते हैं | इन दोनों सीटो पर भाजपा पुराने चेहरों मनोज तिवारी और गौतम गंभीर पर ही दाव खेलने की योजना बना रही है |

पार्टी के पास गौतम गंभीर और मनोज तिवारी से बड़े तथा सक्रिय चेहरे हैं भी नहीं लिहाजा पार्टी इनसे छोटे चेहरों के नामों पर शायद ही विचार करे | वैसे भी पार्टी आवाम को यह संदेश नहीं देना चाहती कि पिछली बार इन्हें चेहरा बना उनसे कोई भूल हुई थी | और चेहरे बदलने पर अरविन्द केजरीवाल जैसे मजबूत स्टार प्रचारक को कोई मौका भी बोलने का नहीं देना चाहेगी | सूत्रों का दावा है भाजपा के तमाम सर्वों में दोनों की ही पब्लिक ईमेज ठीक ठाक है | हालांकि कुछ कार्यकर्ता जरुर विरोध में है लेकिन पार्टी लाइन से वे भी बाहर नहीं जाने वाले |

पूर्वी दिल्ली से प्रदेश भाजपा अध्यक्ष वीरेंद्र सचदेवा के साथ-साथ विष्णु मित्तल भी दावेदार हैं कुछ लोग बांसुरी स्वराज और अभिनेता अक्षय कुमार के नाम भी उछाल रहे हैं लेकिन पार्टी सन्गठन से जुड़े लोगो को दिल्ली में नहीं उतारना चाहती | और अक्षय कुमार फिलहाल इस मूड में बताये नहीं जाते | लोकसभा चुनाव में पार्टी कोई भी हल्का प्रत्याशी उतार विपक्ष को वाक ओवर देने के मूड में भी नहीं है | भाजपा की रणनीति को गठ्बन्धन के खौफ के रूप में भी देखा जा सकता है | उत्तर पूर्वी दिल्ली से सतीश उपाध्याय के साथ साथ कई गुर्जर नेता रामबीर सिंह बिधूड़ी,रमेश बिधूड़ी तथा पूर्व जिला अध्यक्ष राज कुमार बल्लन भी अपने अपने तरीके से गोटियाँ बिठाने में लगे है |

उत्तर पूर्वी दिल्ली से कांग्रेस अरविन्द्र सिंह लवली या संदीप दीक्षित में से ही एक को चुनेगी | हालांकि अनिल चौधरी , रागनी नायक ,मतीन अहमद,भीष्म शर्मा भी दावेदार है | पूर्वांचली चेहरे के तौर पर युवा नेता कन्हैया कुमार की नजरे भी इस सीट पर है | लेकिन संदीप दीक्षित और लवली के सामने किसी के दावे नहीं टिकते | जहां तक पूर्वी दिल्ली का सवाल है यह सीट आप के खाते में है | मनीष सिसोदिया उनकी पत्नी के अलावा कोई बड़ा नाम यहाँ से नहीं है हालांकि विधायक एस.के.बग्गा भी दावा जता रहे हैं लेकिन पार्टी युवा नेता दीपक सिंगला पर दांव खेल सकती है | वैसे पार्टी किसी मजबूत चेहरे की तलाश में है |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here