गठबंधन में सीट बंटवारे को ले अभी भी असमंजस, तय नहीं कौन लड़ेगा कहाँ से

0
607
गठबंधन में सीट बंटवारे को ले अभी भी असमंजस, तय नहीं कौन लड़ेगा कहाँ से
गठबंधन में सीट बंटवारे को ले अभी भी असमंजस, तय नहीं कौन लड़ेगा कहाँ से

गठबंधन में सीट बंटवारे को ले अभी भी असमंजस, तय नहीं कौन लड़ेगा कहाँ से
* यमुनापार की दो सीटों में होगा एक-एक पर फैंसला
* चांदनी चौक और उत्तर पूर्वी में भी होगा ऐसा ही
– अश्वनी भारद्वाज –

नई दिल्ली ,आम आदमी पार्टी और कांग्रेस में राजधानी दिल्ली की सात लोकसभा सीटों पर बंटवारा होना तो लगभग तय है | केवल इतना तय होना बाकी है कौन सी सीट पर आप प्रत्याशी लड़ेगें और किस सीट पर कांग्रेस लड़ेगी | हालांकि हम करीब छह माह पूर्व लिख चुके हैं फैंसला तीन और चार पर ही रहेगा चार पर आम आदमी पार्टी तथा तीन सीट कांग्रेस लड़ेगी | कल से आम आदमी पार्टी के प्रवक्ता भी यह सार्वजनिक रूप से कह रहे है गठ्बन्धन होगा तथा तीन और चार के फार्मूले पर ही होगा |

कुछ खबरिया चैनलों नें तो कल बाकायदा सीट बटवारे पर खबरे भी चला दी | जिससे दोनों पार्टियों के कार्यकर्ताओं में अफरा तफरी भी मची | और मचनी वाजिब भी थी ,भला ऐसे कैसे सम्भव है की दिल्ली की एक तिहाई आबादी यमुनापार की दोनों सीटे एक ही पार्टी के खाते में चली जाए और इसी तरह दोनों मुस्लिम बाहुल्य सीटें भी एक ही पार्टी के हिस्से में आ जाये | हमें इन खबरों पर जरा भी एतबार नहीं था | हम बहुतपहले लिख चुके है यदि पूर्वी दिल्ली कांग्रेस के खाते में आएगी तो उत्तर पूर्वी दिल्ली आप लड़ना चाहेगी और इसी तरह यदि उत्तर पूर्वी दिल्ली आप लडती है तो दूसरी मुस्लिम बाहुल्य सीट चांदनी चौक कांग्रेस के खाते में जायेगी |

शुक्रवार को दोनों पार्टियों में तो यही मुद्दा हावी रहा लेकिन भाजपा की पूरी नजर भी इस प्रकरण पर जमी है | आखिर भाजपा इन गतिविधियों को देख कर ही अपनी रणनीति बनाएगी और उसी हिसाब से अपने प्रत्याशी तय करेगी | हालांकि भाजपा में इन सीटों को ले ज्यादा अदला बदली नहीं करनी केवल चांदनी चौक पर भाजपा को मत्था पच्ची करनी है सेलिब्रेटी को लड़ाना,है या किसी दमदार वैश्य प्रत्याशी को | जहां तक कांग्रेस का सवाल है यदि पूर्वी दिल्ली उनके खाते में आती है तो केवल और केवल अरविन्द्र सिंह लवली या संदीप दीक्षित के बीच फैंसला होना है | और कल की खबरों के अनुरूप गठ्बन्धन सिरे चढ़ता है तो भी एक सीट से लवली तो दूसरी सीट से संदीप दीक्षित का लड़ना लगभग तय है | और आप पार्टी के खाते में यदि उत्तर पूर्वी दिल्ली रहती है और जिसकी सम्भावना ज्यादा है तो बुराड़ी से विधायक पूर्वांचली नेता संजीव झा पहला और आखरी नाम है | और यदि पूर्वी दिल्ली आप के खाते में जाती है तो मनीष सिसोदिया या उनकी धर्मपत्नी के साथ साथ दीपक सिंगला का ही नाम है | जहां तक चांदनी चौक का सवाल है कांग्रेस की ओर से महिला कांग्रेस की अध्यक्ष अलका लांबा के साथ-साथ पूर्व सांसद जय प्रकाश अग्रवाल या उनके परिवार से कोई सदस्य चुनाव लड़ सकता है | रही कांग्रेस की हिस्से की तीसरी सीट की बात तो नई दिल्ली भी कांग्रेस के खाते में जा सकती है वहां से पार्टी के राष्ट्रीय सचिव अभिषेक दत्त या अलका लांबा भी प्रत्याशी हो सकती है | समझ गए ना आप कांग्रेस की ओर से अरविन्द्र सिंह लवली और अलका लांबा का लड़ना लगभग तय है इनकी सीटें इधर उधर हो सकती हैं लेकिन समीकरण इनके फिट बैठ रहे है | पार्टी स्व.मुख्यमंत्री शीला दीक्षित के योगदान को भी नहीं भूली है लिहाजा संदीप दीक्षित को भी इग्नोर नहीं करना चाहेगी | आज बस इतना ही …..

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here