बीजेपी नेता फ्री में दिखाना चाहते थे The Kashmir Files, विवेक अग्निहोत्री बोले- ये क्राइम है

0
35
बीजेपी नेता फ्री में दिखाना चाहते थे The Kashmir Files, विवेक अग्निहोत्री बोले- ये क्राइम है
बीजेपी नेता फ्री में दिखाना चाहते थे The Kashmir Files, विवेक अग्निहोत्री बोले- ये क्राइम है

बीजेपी नेता फ्री में दिखाना चाहते थे The Kashmir Files, विवेक अग्निहोत्री बोले- ये क्राइम है

डायरेक्टर विवेक अग्निहोत्री की फिल्म द कश्मीर फाइल्स को देखने के लिए दुनियाभर के लोग सिनेमाघरों में पहुंच रहे हैं. कश्मीरी पंडितों की दर्दभरी कहानी को विवेक ने बड़े पर्दे पर इस तरह दिखाया है कि हर किसी के दिल में इस फिल्म ने जगह बना ली है. हालांकि फिल्म को बहुत सी मुश्किलों का सामना भी करना पड़ रहा है. अब विवेक अग्निहोत्री ने द कश्मीर फाइल्स को फ्री में दिखाए जाने को लेकर ट्वीट किया है.

विवेक ने एक पोस्टर शेयर किया है

विवेक ने एक पोस्टर शेयर किया है, जिसमें हरियाणा के रेवाड़ी के अध्यक्ष केशव चौधरी, युवा नेता मुकेश यादव कापड़ीवास और पूर्व विधायक रणधीर सिंह कापड़ीवास मिलकर फिल्म द कश्मीर फाइल्स को बड़ी स्क्रीन पर फ्री में दिखाए जाने की बात कर रहे हैं. पोस्टर में जगह और समय बताकर दर्शकों को आमंत्रित भी किया गया है. यह पोस्टर जब विवेक अग्निहोत्री तक पहुंचा तो उन्होंने तुरंत हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल से इसे रोकने का आग्रह करते हुए ट्वीट क‍िया. विवेक ने लिखा, ‘सावधान: द कश्मीर फाइल्स को ऐसे खुले में और फ्री में दिखाना अपराध है. प्रिय मनोहर लाल जी, मैं आपसे आग्रह करता हूं कि इसे रोका जाए. पॉलिटिकल लीडर्स को क्रिएटिविट बिजनेस की इज्जत करनी चाहिए. असली देशभक्ति और समाज सेवा का मतलब है कानूनी और शांतिपूर्ण तरीके से टिकट्स खरीदना.’

एक यूजर ने विवेक अग्निहोत्री की इस बात को गलत बता दिया

इस ट्वीट के कमेंट सेक्शन में एक यूजर ने विवेक अग्निहोत्री की इस बात को गलत बता दिया है. यूजर का कहना है कि कुछ दिहाड़ी मजदूरों तक बीजेपी के ये कार्यकर्ता इस बढ़िया फिल्म को लोगों तक पहुंचा रहे हैं. ऐसे में विवेक को खुश होना चाहिए. वैसे अगर आपके पास किसी फिल्म के राइट्स नहीं है, तो आप अपने से उस फिल्म को खुले में बिना टिकट के नहीं दिखा सकते हैं. यह पायरेसी में गिना जाता है. यही बात विवेक अग्निहोत्री कहने की कोशिश कर रहे हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here