ब्रिटेन के अगले पीएम बन सकते हैं भारतीय मूल के ऋषि सुनक, बोरिस जॉनसन की बढ़ीं मुश्किलें

0
63
ब्रिटेन के अगले पीएम बन सकते हैं भारतीय मूल के ऋषि सुनक, बोरिस जॉनसन की बढ़ीं मुश्किलें
ब्रिटेन के अगले पीएम बन सकते हैं भारतीय मूल के ऋषि सुनक, बोरिस जॉनसन की बढ़ीं मुश्किलें

ब्रिटेन के अगले पीएम बन सकते हैं भारतीय मूल के ऋषि सुनक, बोरिस जॉनसन की बढ़ीं मुश्किलें

भारतीय मूल के ऋषि सुनक ब्रिटेन के अगले प्रधानमंत्री बन सकते हैं। ये भविष्यवाणी की है ब्रिटेन में एक प्रमुख सट्टेबाज कंपनी ने, जिसका कहना है कि प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन जल्द ही इस्तीफा दे देंगे और उनके भारतीय मूल के चांसलर ऋषि सुनक 10 ब्रिटिश पीएम का दफ्तर में कदम रखने के लिए सबसे पसंदीदा उम्मीदवार हैं।

57 वर्षीय जॉनसन के लिए घड़ी की सुइयां टिक-टिक कर रही हैं

ऑनलाइन गैंबलिंग कंपनी बेटफेयर का कहना है कि 57 वर्षीय जॉनसन के लिए घड़ी की सुइयां टिक-टिक कर रही हैं और वे कभी भी पीएम पद से इस्तीफा दे सकते हैं। जॉनसन डाउनिंग स्ट्रीट में एक ड्रिंक पार्टी के खुलासे के मद्देनजर न केवल विपक्ष से बल्कि अपनी ही कंजर्वेटिव पार्टी के भीतर से भी दबाव का सामना कर रहे हैं। ब्रिटेन के पीएम पर आरोप है कि उन्होंने मई 2020 में देश के पहले कोविड-19 लॉकडाउन के दौरान डाउनिंग स्ट्रीट में एक शराब पार्टी की थी।

ऋषि सुनक बोरिस जॉनसन से दूरी बनाने लगे है

ऋषि सुनक बोरिस जॉनसन से दूरी बनाने लगे है.यह वाक्या तब सामने आया जब बुधवार को जॉनसन ने लॉकडाउन दिशानिर्देशों के स्पष्ट उल्लंघन के लिए “तहे दिल से माफी” मांगी थी तब ऋषि सुनक हाउस ऑफ कॉमन्स के चैंबर से गायब थे. इसके बाद 41 वर्षीय सुनक पर आरोप लगे कि जॉनसन की ओर से संसद में उनकी अनुपस्थिति पार्टी के संकटग्रस्त नेता से खुद को दूर करने का एक प्रयास था. हालांकि उन्होंने इस मुद्दे पर ट्वीट कर अटकलों को खारिज करने की कोशिश की.

ब्रिटेन के वित्‍त मंत्री ऋषि सुनक देश के पीएम बन सकते हैं

हालांकि दबाव के बीच ब्रिटिश मीडिया में कहा जा रहा है कि अगर बोरिस पद छोड़ते हैं तो उनकी जगह पर भारतीय उद्योगपति नारायण मूर्ति के दामाद और ब्रिटेन के वित्‍त मंत्री ऋषि सुनक देश के पीएम बन सकते हैं.

वरिष्ठ सिविल सेवक सू ग्रे वर्तमान में डाउनिंग स्ट्रीट सहित सरकारी क्वार्टरों के भीतर सभी कथित लॉकडाउन उल्लंघनों की जांच कर रही हैं. हाल के हफ्तों में इसी तरह की घटनाओं के बारे में कई खुलासे हुए हैं, जिन्हें जॉनसन ने अपने दफ्तर के परिसर के भीतर काम की घटनाओं के रूप में सही ठहराने की कोशिश की है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here